COPYRIGHT © Rajiv Mani, Journalist, Patna

COPYRIGHT © Rajiv Mani, Journalist, Patna
COPYRIGHT © Rajiv Mani, Journalist, Patna

मंगलवार, 29 दिसंबर 2015

सामाजिक कार्यकर्ता व पत्रकार अनिल साह का निधन

 न्यूज@ई-मेल 
पटना : सामाजिक कार्यकर्ता और लेखक व पत्रकार अनिल साह नहीं रहे। पिछले दिनों हृदय गति रूक जाने से उनका निधन हो गया। वे 72 साल के थे। आप लोकनायक जयप्रकाश नारायण के निकटतम सहयोगी थे। आप कुर्जी होली फैमिली हाॅस्पीटल के क्रेडिट मैनेजर थे और बाद में जयप्रभा हाॅस्पीटल के प्रशासक बने। कुर्जी पल्ली परिषद के माननीय सदस्य, कैथोलिक एसोसिएशन के माननीय सदस्य, कोलकाता से प्रकाशित विकली हेराल्ड के रिर्पोटर, ‘सार’ न्यूज एजेंसी के अधिकृत रिपोर्टर व ‘पवित्र हृदय का संदेश’ के लेखक थे। 
अनिल साह के पुत्र सिसिल साह बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अल्पसंख्यक विभाग के उपाध्यक्ष हैं। पत्नी स्टेला साह हार्टमन स्कूल की पूर्व शिक्षिका हैं। साथ ही, छोटा बेटा राजन साह और बेटियां हैं। अनिल साह के निधन की खबर पाकर कुर्जी होली फैमिली हाॅस्पीटल की पूर्व प्रशासिका सिस्टर ग्रेस, सामुदायिक स्वास्थ्य एवं ग्रामीण विकास केन्द्र की पूर्व प्रभारी सिस्टर आन डिसूजा, सिस्टर बेर्नाडेक्ट, सिस्टर रोज आदि ने भावभीनी श्रद्धांजलि दी। बाद मंे प्रेरितों की रानी ईश मंदिर में 24 दिसम्बर की सुबह मिस्सा के बाद कुर्जी कब्रिस्तान में उन्हें दफन कर दिया गया। 
इस अवसर पर फादर अरुण अब्राहम, फादर सुशील साह, फादर सेराफिम जौन, फादर जौर्ज हिलारियन, फादर मैथ्यू चैम्पलानी, फादर अब्राहम पुतुमुना, फादर एंड्रू, फादर जाॅनसन केलकत, फादर केसी फिलिप, फादर फिलिप, फादर स्कारिया, फादर सेवास्टियन आदि येसु समाजी पुरोहितों ने मिस्सा किया। मुख्य अनुष्ठानकर्ता फादर अरुण अब्राहम थे। जो अनिल साह के पड़ोसी भी हैं।

फादर दीपक का निधन

पटना : फादर दीपका का निधन पिछले दिनों 13 दिसंबर को परमानंदा हॉस्पीटल, दिल्ली में हो गया। वे 61 साल के थे। उन्हें पटना में ही हाॅर्ट अटैक हुआ था। हाॅर्ट अटैक के बाद उन्हें पटना स्थित कुर्जी होली फैमिली अस्पताल सहित अन्य कई अस्पतालों में ले जाया गया, लेकिन पूर्ण रूप से ठीक ना हो पाने के कारण उन्हें दिल्ली ले जाना पड़ा, जहां डाॅक्टर उन्हें बचा नहीं सकें। 
फादर दीपक का होम पैरिश संत जोसेफ चर्च, मीरा रोड, मुम्बई है। इनका जन्म 12 सितंबर, 1954 को हुआ था। येसु समाज में 2 जनवरी, 1975 को प्रवेश किए। इनका पुरोहिताभिषेक 26 अप्रैल, 1986 को हुआ। येसु समाज की अंतिम प्रतिज्ञा 23 अप्रैल, 1995 को लिये। ईश्वर के राज में 13 दिसंबर, 2015 को चले गए। जीवन के 61 वसंत देख चुके फादर दीपक ने 39 साल की आयु में येसु समाजी के रूप में शिक्षा ली और अपना जीवन पल्ली स्तर की सेवा में लगाए। पुरोहिताभिषेक के एक साल के आनंद के बाद फादर दीपक पहली बार छात्रावास अधीक्षक के रूप में केआर हाई स्कूल, बेतिया में 1987-1989 तक रहे। संत जेवियर, पटना के उप प्राचार्य 1989-1991 तक रहे। केलीब्स हॉस्टल के सुपीरियर के रूप में सेंट जोसेफ कॉलेज त्रिची में 1992 से 1994 तक रहे। पल्ली पुरोहित व प्रधानाध्यापक, चुहड़ी में 1994-1998 तक रहे। कोषाध्यक्ष, बेतिया धर्मप्रांत में 1998-2000 तक रहे। प्रधानाध्यापक, मिशन मध्य विद्यालय, बेतिया में 2000-06 तक, सुपीरियर व प्रधानाध्यापक, राज राजेश्वर हाई स्कूल, बरबीघा में 2006-09 तक, स्टाफ जुनियरेट के रूप में एक्सटीटीआई, पटना में 2010 तक और पल्ली पुरोहित के रूप में फुलवारीशरीफ में 2010 से मृत्यु दिवस तक रहे।
निधन के बाद फादर दीपक को पटना के दीघा स्थित एक्सटीटीआई कब्र में दफना दिया गया। यहीं येसु समाज के मृतक सदस्यों को दफनाया जाता है। इसके पूर्व पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष विलियम डिसूजा के नेतृत्व में धार्मिक अनुष्ठान किया गया। मुजफ्फरपुर धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष काॅजिटेन फ्रांसिस ओस्ता, येसु समाजी, बक्सर धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष सेवास्टियन कल्लूपुरा, येसु समाजी, पटना जेसुइट के सुपेरियर फादर जोस और दिल्ली जेसुइट के प्रतिनिधि फादर टोम तथा येसु समाजी के साथ दर्जनों पुरोहित इस अवसर पर उपस्थित थे। 

सिस्टर अल्फंसा का निधन

पटना : सिस्टर अल्फंसा का निधन पिछले दिनों हो गया। सिस्टर अल्फंसा कुर्जी-बालूपर स्थित सिस्टर्स आॅफ सेक्रेट हार्ट की सिस्टर थी। ज्ञात हो कि यह धर्मप्रांतीय स्तर का काॅन्वेंट है। पटना धर्मप्रांत के धर्माध्यक्ष लुइस वान हुइक, येसु समाजी इसके संस्थापक हैं। बेतिया में 1929 में सिस्टर्स आॅफ सेक्रेट हार्ट के गठन के बाद इसका विस्तार यहां किया गया था। सिस्टर अल्फंसा केरल से बिहार आकर सेवा कार्य कर रही थी। सिस्टर अल्फंसा का अंतिम संस्कार कुर्जी स्थित कब्रिस्तान में कर दिया गया। इसके पूर्व पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष विलियम डिसूजा के नेतृत्व में धार्मिक अनुष्ठान का आयोजन किया गया। साथ ही मुजफ्फरपुर के धर्माध्यक्ष काजिटेन फ्रांसिस ओस्ता सहित कई पुरोहित भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

एनटीपीसी कर्मी की पत्नी का निधन

पटना : बाढ़ में कार्यरत एनटीपीसी कर्मी क्लारेंस लौरेंस की पत्नी शीला लौरेंस का पिछले दिनों निधन हो गया। उनका हार्ट अटैक हुआ था। पश्चिमी पटना स्थित शिवाजी नगर स्थित उनके मकान से अस्पताल ले जाते समय राह में ही उन्होंने दम तोड़ दिया। वह 50 साल की थीं। शीला लौरेंस के दो लड़के और एक लड़की हैं। कुर्जी पल्ली की कब्रिस्तान में इन्हें दफनाया गया है।

आलोक कुमार की खबरें