COPYRIGHT © Rajiv Mani, Journalist, Patna

COPYRIGHT © Rajiv Mani, Journalist, Patna
COPYRIGHT © Rajiv Mani, Journalist, Patna

सोमवार, 19 दिसंबर 2016

350वां प्रकाश उत्सव : विभिन्न स्थानों का निरीक्षण

पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरू गोविन्द सिंह जी महाराज के 350वें प्रकाश उत्सव से संबंधित विभिन्न स्थलों का निरीक्षण किया तथा प्रकाश उत्सव की तैयारियों का जायजा लिया। निरीक्षण के क्रम में नीतीश कुमार ने तख्त श्री हरमंदिर साहेब गुरूद्वारा परिसर का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने गुरूद्वारा श्रीहरमंदिर साहेब में मत्था टेका। उन्होंने गुरूद्वारा परिसर में प्रकाश उत्सव के अवसर पर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए की जा रही व्यवस्था का जायजा लिया तथा उपस्थित अधिकारियों एवं गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटि के लोगों को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने प्रकाश उत्सव के अवसर पर आने वाले श्रद्धालुओं के आवागमन की व्यवस्था का जायजा लिया।
उन्होंने श्रद्धालुओं के आवागमन को सुविधाजनक बनाने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने तख्त श्री हरमंदिर साहेब गुरूद्वारा के पास हरमंदिर गली एवं बाड़े की गली का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में मुख्यमंत्री ने एक स्थान पर अव्यवस्थित विद्युत तारों को व्यवस्थित करने का निर्देश दिया। उन्होंने लोगों से साफ-सफाई रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि इतना काम हो रहा है, आप भी अपना योगदान दीजिए। प्रकाश उत्सव के अवसर पर काफी संख्या में लोग आयेंगे, आप साफ-सफाई बनाये रखिये ताकि आने वाले श्रद्धलुओं को किसी प्रकार की असुविधा ना हो। मुख्यमंत्री ने श्री गुरू गोविन्द सिंह बालिका उच्च विद्यालय का भी निरीक्षण किया। इसके प्रश्चात् मुख्यमंत्री ने जैन स्वेताम्बर मंदिर का निरीक्षण किया। उन्होंने मंदिर में रखे पुरानी मूर्तियों के लिए आर्केलाॅजी विभाग को सूचित करने को कहा एवं मंदिर के भवन की मरम्मती का भी निर्देश दिया।
नीतीश कुमार ने इसके पश्चात् कंगनघाट का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने कंगन घाट पर प्रकाश उत्सव के अवसर पर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए की गयी लंगर व्यवस्था का स्थल निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में मुख्यमंत्री ने लंगर स्थल की भूमि को समतल एवं स्थिर करने को कहा, ताकि आने वाले श्रद्धालुओं को लंगर में बैठने एवं खाने में किसी प्रकार की असुविधा ना हो। कंगन घाट स्थित श्रद्धालुओं के लिए बनाई गयी टेंट सिटी का मुख्यमंत्री ने निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री द्वारा टेंट सिटी में प्रकाश की समूचित व्यवस्था का निर्देश दिया गया।
मुख्यमंत्री ने बाईपास स्थित 350वें प्रकाश उत्सव के अवसर पर आने वाले श्रद्धालुओं के आवासन के लिए बनाये गये टेंट सिटी का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने टेंट सिटी में बनाये गये शौचालय एवं स्नानागार तथा प्रकाश उत्सव के अवसर पर आने वाले श्रद्धालुाओं के लिए की गयी अन्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया। प्रधान सचिव पर्यटन हरजोत कौर द्वारा टेंट सिटी में श्रद्धालुओं के लिए की गयी व्यवस्था के संबंध में मुख्यमंत्री को विस्तृत जानकारी दी गयी। बाईपास पर बने टेंट सिटी में श्रद्धालुओं के आवागमन के लिए बैट्री से चलित वाहन लगाया जायेगा। इस संदर्भ में मुख्यमंत्री ने निर्देश दिया कि और बैट्री संचालित वाहन की आवश्यकता हो तो मंगवा लीजिए। प्रकाश उत्सव में आने वाले श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की कठिनाई ना हो, मुख्यमंत्री ने आवासन स्थलों पर प्रर्याप्त प्रकाश की व्यवस्था करने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने श्रद्धालुओं के लिए की गयी पार्किंग व्यवस्था का भी निरीक्षण किया।
इसके अलावा मुख्यमंत्री ने गांधी मैदान में 350वें प्रकाश उत्सव के अवसर पर आने वाले श्रद्धालुओं के लिए बनायी गयी टेंट सिटी का भी निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने श्रद्धालुओं के लिए की गयी आवासन व्यवस्था का भी निरीक्षण किया तथा अधिकारियों को आवासन स्थल को श्रद्धालुाओं कें लिए सुविधाजनक बनाने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने गांधी मैदान में श्रद्धालुओं के लिए की जा रही विभिन्न प्रकार की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने 350वें प्रकाश उत्सव के लिए बनाये गये दरबार हाॅल का भी निरीक्षण किया। गांधी मैदान में मुख्यमंत्री के समक्ष पर्यटन विभाग द्वारा श्री गुरू गोविन्द सिंह जी महराज के 350वें प्रकाश उत्सव के अवसर पर आने वाले श्रद्धालुओं के सुविधा के लिए की जा रही तैयारियों से संबंधित विस्तृत प्रस्तुतिकरण दी गयी।
निरीक्षण के क्रम में मुख्यमंत्री ने श्री गुरू गोविन्द सिंह जी महराज के 350वें प्रकाश उत्सव से संबंधित सभी तैयारियां ससमय पूरा कर लेने का निर्देश दिया। मुख्यमंत्री ने सभी अधिकारियों को प्रकाश उत्सव के अवसर पर आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा को देखते हुये सभी तैयारी ससमय पूरी करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि प्रकाश उत्सव के अवसर पर पटना आने वाले श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की कोई असुविधा नहीं हो, इसका पूरा ख्याल रखें। आने वाले श्रद्धालु यहां से एक सुखद याद अपने साथ ले जायें।