COPYRIGHT © Rajiv Mani, Journalist, Patna

COPYRIGHT © Rajiv Mani, Journalist, Patna
COPYRIGHT © Rajiv Mani, Journalist, Patna

रविवार, 27 नवंबर 2016

कामगारों के बैंक खाते खोलने को राष्ट्रव्यापी अ‎भियान

 संक्षिप्त खबरें 
नई दिल्ली : केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ‎वित्तीय सेवाएं ‎विभाग, ‎वित्त मंत्रालय के सहयोग से संग‎ठित तथा असंग‎ठित दोनों क्षेत्रों के उन कामगारों के बैंक खाते खोलने के ‎लिए एक राष्ट्रव्यापी अ‎भियान प्रारम्भ कर रहा है, ‎जिनके आज तक भी बैंक खाते नहीं हैं। 26 नवम्बर, 2016 से कामगारों को अपने बैंक खाते खोलने में सु‎विधा प्रदान करने हेतु प्रत्येक ‎जिले में ‎विशिष्ट स्थानों पर स्पेशल कैम्प आयो‎जित ‎किए जाएंगे। केंद्र सरकार ने ‎डिजिटल लेन-देन के मार्ग को पूर्व की अपेक्षा अ‎धिक पुरजोर ढंग से अपनाने का ‎निर्णय ‎लिया है। केंद्रीय श्रम एंव रोजगार राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि इस संबंध में राज्य सरकारों का स‎क्रिय सहयोग प्राप्त करने हेतु सभी राज्य सरकारों को हम पहले ही पत्र भेज चुके हैं। बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि जिलाधीशों, बैंक के मुख्य ‎जिला प्रबंधकों एवं केन्द्र एवं राज्य सरकारों दोनों के श्रम अ‎धिका‎रियों को शा‎मिल करते हुए बनाए गए दल अपने ‎जिले में स्थल तथा बैं‎किंग चैनलों के साथ समन्वय स‎हित कैम्पों की रूपात्मकता ‎निर्धा‎रित करेंगे।
बंडारू दत्तात्रेय ने सभी प्र‎तिष्ठानों, ‎नियोक्ताओं एवं कर्मचारी संघों तथा सभी संबं‎‎धितों से आह्वान करते हुए कहा कि सबकी स‎क्रिय भागीदारी एवं सहयोग की अपेक्षा है, ता‎कि जरूरतमंद कामगारों की पहुंच इन ‎शिविरों तथा इनमें ‎मिलने वाली सेवाओं तक संभव हो सके। यह अ‎भियान आने वाले ‎दिनों में संबं‎धित बैंकों, उनके व्यावसा‎यिक प्र‎तिनिधियों एवं यथा-अपे‎क्षित ‎शिविरों के माध्यम से जारी रहेगा।
वित्तीय समावेशन को सु‎विधाजनक बनाने तथा सभी ‎वित्तीय लेन-देनों में पारद‎र्शिता सु‎निश्चित करने हेतु सरकार ने ‎सितम्बर, 2014 में अपनी सर्वोत्कृष्ट योजना जन धन योजना प्रारम्भ की। तब से देश भर में 25 करोड़ से अ‎धिक बैंक खाते खोले गए हैं और इस प्रकार कामकाजी वर्ग को ‎वित्तीय, बैं‎किंग क्रियाकलापों की मुख्य धारा से जोड़ा गया है। डीबीटी ने इस बैं‎किंग नेटवर्क के माध्यम से देश के करोड़ों गरीब नाग‎रिकों को लाभा‎न्वित ‎किया है।

13वें विश्व रोबोट ओलंपियाड का शुभारंभ 

नई दिल्ली : संस्कृति मंत्रालय और इंडिया स्टेम फाउंडेशन (आईएसएफ) के तत्वावधान में राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद (एनसीएसएम) ने संयुक्त रूप से 13वें विश्व रोबोट ओलंपियाड का ग्रेटर नोयडा के इंडिया एक्सपो मार्ट में शुभारंभ किया। इस दो दिवसीय कार्यक्रम (26 और 27 नवम्बर) का उद्घाटन संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. महेश शर्मा के द्वारा किया गया। इस वर्ष के समारोह का विषय ‘’रैप द स्क्रैप’’ है। इस अंतर्राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में 51 देशों से 2000 से अधिक छात्र भाग ले रहे हैं। ये छात्र अपशिष्ट को कम करने, उसका प्रबंधन करने और पुनर्चक्रण के लिए रोबोटिक्स प्रौद्योगिकी का उपयोग कर अभिनव समाधानों का प्रदर्शन करेंगे। यह प्रतिस्पर्धा चार श्रेणियों - रेगुलर श्रेणी (प्राथमिक, जूनियर हाई, सीनियर हाई), डब्ल्यूआरओ फुटबॉल, खुली श्रेणी और अत्याधुनिक रोबोटिक्स चुनौती में 9 से 25 वर्ष आयु समूह के छात्रों के लिए आयोजित की जा रही है।

ई-पशु हाट पोर्टल लॉन्च

नई दिल्ली : केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह ने नई दिल्ली में राष्ट्रीय दुग्ध दिवस के अवसर पर ई-पशु हाट www.pashuhaat.gov.in पोर्टल को लॉन्च किया। इस अवसर पर केंद्रीय कृषि मंत्री ने कहा देश में पहली बार राष्ट्रीय  बोवाइन उत्पादकता मिशन के अंतर्गत ई पशुधन हाट पोर्टल स्थापित किया गया है।  यह पोर्टल देशी नस्लों के लिए प्रजनकों और किसानों को जोड़ने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इस पोर्टल के द्वारा किसानों को देशी नस्लों की नस्लवार सूचना प्राप्त होगी। इससे किसान एवं प्रजनक देशी नस्ल की गाय एवं भैंसों को खरीद एवं बेच सकेंगे। देश में उपलब्ध जर्मप्लाज्म की सारी सूचना पोर्टल पर अपलोड कर दी गयी है। इससे किसान तुरंत लाभ उठा सकेंगे। इस तरह का पोर्टल विकसित डेयरी देशों में भी उपलब्ध नहीं है। इस पोर्टल के द्वारा देशी नस्लों के संरक्षण एवं संवर्धन को एक नई दिशा मिलेगी।

प्रति व्यक्ति दूध की उपलब्धतता 2015-16 में 340 ग्राम प्रतिदिन 

नई दिल्ली : केन्द्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा है कि पिछले दो वर्षों 2014-15 तथा 2015-16 में दूध उत्पादन ने 6.28 फीसदी की विकास दर हासिल की है, जो पिछले वर्षों की लगभग 4 फीसदी विकास दर से कहीं अधिक है। राधा मोहन सिंह ने कहा कि इससे प्रति व्यक्ति दूध की उपलब्धतता 2013-14 के 307 ग्राम प्रति दिन से बढ़कर 2015-16 में 340 ग्राम प्रति दिन हो गई है, जो 5 फीसदी की विकास दर है और 2014-15 में 3 फीसदी से कम थी। केंद्रीय कृषि मंत्री ने यह बात राष्ट्रीय दुग्ध दिवस के अवसर पर नई दिल्ली में आयोजित एक समारोह में कही। भारत में श्वेत क्रांति के जनक डाॅ. वर्गीज कुरियन के जन्मदिन को राष्ट्रीय दुग्ध दिवस के रूप में मनाया जाता है।