COPYRIGHT © Rajiv Mani, Journalist, Patna

COPYRIGHT © Rajiv Mani, Journalist, Patna
COPYRIGHT © Rajiv Mani, Journalist, Patna

बुधवार, 24 अगस्त 2016

‘अनुसूचित जनजाति का नामांकन 35 फीसदी अंक में हो’

झारखण्ड के मेडिकल काॅलेजों में एमबीबीएस पाठ्यक्रमों में रिक्त सीटों को भरने के लिए रघुवर दास ने केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जेपी नड्डा को लिखा पत्र
रांची : मुख्यमंत्री रघुवर दास ने केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जेपी नड्डा को पत्र लिखकर अनुरोध किया है कि शैक्षणिक सत्र 2016-17 में झारखण्ड के मेडिकल काॅलेजों में एमबीबीएस पाठ्यक्रमों में अनुसूचित जनजाति के 37 रिक्त सीटों में नामांकन हेतु निर्धारित 40 प्रतिशत अंक की आवश्यक अहत्र्ता में 5 प्रतिशत की कटौती कर 35 प्रतिशत कर दिया जाय। 
ज्ञात हो कि झारखंड के 3 मेडिकल काॅलेजों क्रमशः आरएमसीएच, रांची, एमजीएम मेडिकल काॅलेज, जमशेदपुर तथा पाटलिपुत्रा मेडिकल काॅलेज, धनबाद में एमबीबीएस की कुल 289 सीटें हैं, जिनमें से 76 सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। शैक्षणिक सत्र 2016-17 में इन 76 सीटों के विरूद्ध अनुसूचित जनजाति के मात्र 49 अभ्यर्थी ही एमबीबीएस पाठ्यक्रम हेतु सफल घोषित किए गए हैं। निर्धारित 40 प्रतिशत अंक नहीं होने के कारण 37 सीटें रिक्त रह जाएंगी। अतः मुख्यमंत्री दास ने केन्द्रीय मंत्री नड्डा को अनुसूचित जनजाति के नामांकन हेतु 35 प्रतिशत अंक की अहत्र्ता करने का अनुरोध किया है। ऐसा होने से अनुसूचित जनजाति के रिक्त सीटों को भरा जा सकेगा। 
मुख्यमंत्री ने श्री नड्डा को पत्र में कहा है कि अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित कुल सीटों में नामांकन से उनके हितों की रक्षा तो होगी ही, आमजनों की चिकित्सा सुविधा हेतु डाॅक्टरों की कमी भी दूर होगी। उनके नामांकन से सरकार को चिकित्सा सुविधा बहाल करने में सुविधा होगी।